My Best Friend – Hindi

मेरी सहेली



मेरी एक सहेली है। वह मेरे ही घर में रहती है।



जब मैं खुश होती हूँ, वह भी खुश होती है।



जब मैं रोती होती हूँ, वह भी रोती है।



मगर उसकी आवाज़ नहीं आती!  मेरी सहेली मेरे शीशे में बंद है।



 “बाहर आओ!” मैं कहती रहती हूँ। “हम खेलेंगे!” मगर वह नहीं आती।



रूठकर मैं सो जाती हूँ।



तब वह शीशे से बाहर आती है, मेरे सपनों में ! हम खूब मस्ती करते हैं ।



हम खेलते हैं, हम भागते हैं और शोर मचाते हैं ।



जब मैं उससे बातें करती हूँ, वह भी मुझसे बातें करती है।



सवेरे-सवेरे मेरी सहेली फ़िर शीशे में छुप जाएगी ।



अब मैं नहीं रूठती। मैं जानती हूँ हम दोनों फ़िर सपने में मज़े करेंगे ।




Click to Read an Interactive version of this story here